छत्तीसगढ़ में माफिया व वसूली की सरकार : बृजमोहन अग्रवाल
छत्तीसगढ़ में माफिया व वसूली की सरकार : बृजमोहन अग्रवाल

रायपुर (वीएनएस)। भाजपा विधायक एवं पूर्व मंत्री बृजमोहन अग्रवाल ने गुरुवार को प्रदेश सरकार पर तीखे आरोप लगाते हुए कहा कि कांग्रेस ने 7 लाख 81 हजार से अधिक गरीबों के सर के ऊपर से पक्का छत तक छीन लिया है। पूरी सरकार माफिया के भरोसे चल रही है गांव-गांव में शराब माफिया, जमीन माफिया, रेत माफिया पैदा हो गए हैं जो आम लोगों का जीना हराम कर रखे हैं। शांत छत्तीसगढ़ को अशांत कर दिया है भूपेश बघेल की सरकार ने।

बृजमोहन अग्रवाल ने बेमेतरा जिले के नांदघाट में आयोजित दीपावली मिलन समारोह में जनसभा को संबोधित करते हुए कांग्रेस पर तीखे हमले किए। उन्होंने कहा कि पूरे प्रदेश में माफिया राज व्याप्त हो गया है। सरकार में सिर्फ और सिर्फ वसूली चल रही है, विकास काम पूरी तरह अवरुद्ध हो गया है। पिछले ढाई सालों में आपके गांव में एक ईंट नहीं रखी गयी है। आखिर आपके विकास का पैसा गया तो गया कहां? मुख्यमंत्री खुद गेडी चढ़कर, भंवरा चलाकर छत्तीसगढ़ की समृद्धि की बात कर रहे हैं। छत्तीसगढ़ में समृद्धि तब आएगी जब गांव-गांव में किसान और किसान के बच्चे गेड़ी चढेगे, भौरा चलायेंगे।

श्री अग्रवाल ने कहा कि अटल जी के सपनों का छत्तीसगढ़ बनाने का काम भाजपा ने पूरी ईमानदारी से निभाया, चौड़ी-चौड़ी सड़कें, बिजली, शुद्ध पानी, स्कूल, समुदायिक भवन, सांस्कृतिक भवन, सामाजिक भवन, एनीकट, स्टॉप डेम, नहर नालिया जैसे विकास के काम करवाएं। वहीं महिलाओं को सिलाई मशीन, साइकिल, मजदूरों को सायकल, टूल किट, औजार, टिफिन देने का भी काम किया, परंतु आज यह सारी योजनाएं बंद है। भूपेश सरकार सिर्फ और सिर्फ वसूली में लगी हुई है। जनता के विकास कामों से कोई लेना देना नहीं है। किसानों को मिलने वाली सारी सब्सिडी बंद हो गई है। कृषि पम्पो को कनेक्शन नहीं मिल रहे हैं। पंप में सब्सिडी नहीं मिल रही है। ड्रिप स्पिंडलर, नेट सेट हाउस पाली हाउस सहित कृषि उपकरणों में मिलने वाला सब्सिडी किसानों को नहीं मिल रही है। सिर्फ और सिर्फ ढाई हजार में धान खरीदी की बात करके किसानों से उनके सारे अधिकार छीन लिए गए हैं। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा भेजे गए 7 लाख 81 हजार से अधिक मकान राज्य सरकार द्वारा अपना हिस्सा नहीं जमा कराने के कारण वापस चला गया। आप लोगों को अपने घर की पहली, दूसरी, तीसरी किस्त भी नहीं मिल पा रही है। आखिर आपके घरों को अधूरा रहने के लिए जवाबदार कौन है? भूपेश बघेल सरकार ने छत्तीसगढ़ के लाखों गरीबों के सर से छत छीन लिया है।

उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने गांव-गांव, घर-घर नल से शुद्ध पानी देने के लिए जो पैसा भेजा वह भी भ्रष्टाचार की भेंट चढ़ गई। जनता को शुद्ध पानी भी नहीं मिल रहा है। टेंडर-टेंडर का खेल, खेल रही है सरकार। गांव-गांव में शराब की नदियां बह रही है, कहां गया इनका शराबबंदी का वादा? पहले पंचायतों को रेत का अधिकार था, अब तो पूरे प्रदेश में सरकार के संरक्षण में रेत माफिया रेत घाट चला रहे हैं। आपके गांव के गौठान की क्या स्थिति है मुझे बताने की आवश्यकता नहीं है। गांव के विकास के सारे पैसे भ्रष्टाचार की भेंट चल गई है। नरवा पट रहे हैं कब्जा हो रह, गरवा अभी भी सड़कों में व किसानों के खेतों में है। घुरुवा का कहीं अता पता नहीं है, बाड़ी तो सिर्फ और सिर्फ कांग्रेस के घोषणापत्र में ही दिख रहा है।

कार्यक्रम में जिला अध्यक्ष ओम प्रकाश जोशी, संध्या परगनिहा, नरेंद्र शर्मा, विकाश धर दीवान, नरेन्द्र वर्मा, अजय तिवारी, बबलू राजपूत, देवा दास चतुर्वेदी, नेमि राम सोनवानी, दयावंत बांधे, मधु राय, जगजीवनराम खरे, चंद्रपाल साहू, मिंटू बिसेन, रामसरन साहू, त्रिलोक साहू, प्रदीप शुक्ला, अविनाश शुक्ला, अभिषेक राजपूत, दुर्गा सोनी, अनिता बधेल, खिलेस्वरी देवांगन, कुंतीं साहू, ललित साहू, सुनील साहू, भाजयुमो जिलाध्यक्ष सहित सैकड़ों की संख्या में भाजपा कार्यकर्ता उपस्थित थे।