1 नवंबर से धान खरीदी सहित अन्य मांगो को लेकर भाजपा ने राज्यपाल के नाम कलेक्टर को सौंपा ज्ञापन
1 नवंबर से धान खरीदी सहित अन्य मांगो को लेकर भाजपा ने राज्यपाल के नाम कलेक्टर को सौंपा ज्ञापन

अंबिकापुर (वीएनएस)। भाजपा ने 1 नवंबर से धान खरीदी शुरू करने, एमएसपी वृद्धि का लाभ किसानों को देने व किसानों की अन्य समस्याओं के समाधान के लिए राज्यपाल के नाम कलेक्टर को ज्ञापन सौंपा है।

भाजपा पिछड़ा वर्ग मोर्चा के प्रदेश अध्यक्ष अखिलेश सोनी ने ज्ञापन सौंपने के बाद संकल्प भवन अंबिकापुर में प्रेस वार्ता को संबोधित करते हुए बताया कि छत्तीसगढ़ में धान की फसल तैयार हो चुकी है, लेकिन शासन के द्वारा इस सत्र में इसकी खरीदी को लेकर किसी तरह की घोषणा नहीं किए जाने से किसानों में बेचैनी है।

भाजपा ने प्रदेश सरकार पर आरोप लगाते हुए कहा कि प्रदेश में धान के रकबे को गुपचुप ढंग से कम किए जाने की साजिश कांग्रेस सरकार रच रही है। अफसरों पर दबाव डाला जा रहा है कर्मचारियों जबरन धान का रकबा कम दिखाए। रकबा को काफी कम कर धान खरीदने के अपने कर्तव्य से प्रदेश सरकार बचना चाह रही है। इसी तरह केंद्र सरकार लगातार फसलों के एमएसपी में वृद्धि करती जा रही है लेकिन छत्तीसगढ़ के किसानों को इसका लाभ नहीं मिल रहा। कांग्रेस सरकार अपने वादे के अनुसार धान का 25 सौ रुपये  प्रति क्विंटल एक मुफ्त तो नहीं दे पा रही है ऊपर से केंद्र सरकार द्वारा हर सत्र में जो समर्थन मूल्य बढ़ाया जा रहा है उसका भी लाभ किसानों को नहीं मिल रहा है।

पिछले सत्रों में केंद्र ने धान के समर्थन मूल्य में करीब 3 सौ रुपये की वृद्धि की है। इस अनुपात से किसानों को अगली फसल के लिए 28 सौ रुपये प्रति क्विंटल धान की कीमत एक क़िस्त में देने की घोषणा करनी चाहिए। वही 1 नवंबर से धान की खरीदी राज्य सरकार द्वारा नहीं की जाती है तो भाजपा किसानों के साथ आंदोलन करेगी।