बेसहारा और विधवा महिलाओं के लिए सहारा बना मंत्री अकबर
बेसहारा और विधवा महिलाओं के लिए सहारा बना मंत्री अकबर
बेसहारा और विधवा महिलाओं के लिए सहारा बना मंत्री अकबर

कवर्धा (वीएनएस)। बढ़ती हुई मंहगाई के बीच दीवाली त्यौहार से ठीक किसी भी बेसहारा, भूमिहीन किसान, विधवा महिला व रोज-कमाने खाने वाले वर्ग को बोनस, ईनाम व अन्य आर्थिक मदद मिलना किसी भी परिवार के लिए सौगात व संजीवन से कम नही होती। इस परिस्थिति में आर्थिक मदद मिलते ही हर किसी के चेहरे में मुस्कान और आत्मविश्वास देखने को मिलता है। कुछ ऐसा ही सुखद पल और तस्वीरें इन दिनों छत्तीसगढ़ के कवर्धा शहर से देखने को मिल रही है।

दरअसल कैबिनेट मंत्री व कवर्धा विधायक अकबर ने अपने विधानसभा के कवर्धा शहर की 1438 महिलाओं को दिपावली त्यौहार से ठीक पहले 72 लाख रूपए का आर्थिक मदद देने का बीड़ा उठाया है। प्रत्येक महिलाओं को अकबर ने अपनी स्वेच्छानुदान से पांच-पांच हजार रूपए दे रहे है। घर-घर पहुंच कर दीपावली से महिलाओं व उनके परिवार जनों को यह चेक दी जा रही है। पांच हजार रूपए का चेक लेती हुई शहर की एक बुजुर्ग महिला ने अपनी खुशी रोक नहीं पाई। खुशी से उस बुजुर्ग महिला ने मंत्री अकबर को जुग-जुग जुओ बेटा…और आयुष्मान भवः का आशीर्वाद भी दे दी।

कवर्धा नगर पालिका निवासी पदमा कहार, सरोजनी कुंभकार, शिवकुमारी निषाद, सरस्वती ठाकुर, जानकी यादव, दुर्गा राजपुत, सुरेखा कौशिक सहित सौकड़ों महिलाओं ने दीवापाली त्यौहार से ठीक पहले पांच-पांच हजार रूपए आर्थिक सहयोग करने के लिए मंत्री अकबर को धन्यवाद दी है। महिलाओं ने खुशी जाहिर करते हुए कहा कि विधिवा महिलाओं के लिए यह आर्थिक सहयोग किसी संजीवनी से कम नहीं है। हम सब अच्छे से खुशी-खुशी दिपावली का त्यौहार मना सकते है। जरूरत के हिसाब से बच्चों व परिवार के लिए नए-नए कपडे भी खरीद सकते है।

समाज प्रमुखों व व्यापारी वर्ग में भी मंत्री अकबर के प्रयासों की हो रही सराहना

शहर की बेसहारा, विधवा व अन्य पेंशनधारी महिलाओं को दीपावली त्यौहार से ठीक पहले मंत्री अकबर द्वारा दी जा रही आर्थिक मदद की कबीरधाम जिले में बहुत सराहना मिल रही है। इस पहल को कवर्धा शहर के समाज प्रमुखों व व्यापारी वर्ग ने भी सराहना करते हुए इसे अभिनव पहल बताया है। कवर्धा चेम्बर आफ कार्मस के अध्यक्ष आकाश आहुजा ने शहर की पेंशनधारी विधवा व बेसहारा महिलाओं के दी जा रही 72 लाख रूपए की आर्थिक मदद को बहुत ही सुखद बताया है। उन्होने कहा कि यह सौगात खास कर ऐसे परिवारों के लिए संजीवनी साबित हो रही है, तो वर्तमान में कमजोर परिवार से है। हर किसी परिवार को लिए आर्थिक मदद नई खुशियां लेकर आती है।

थोक व्यापारी संघ के अध्यक्ष दिनेश जैन ने इस आर्थिक मदद को सबसे अभिनव पहल बताया है। उन्होने कहा कि हर व्यक्ति नेता व अभिनेता बनकर अपनो को भूल जाते है। हमने इससे पहले कोविड संक्रमण के दौर का भी देखा है। उस समय भी कैबिनेट मंत्री मोहम्मद अकबर द्वारा शहर के छोटे-छोटे फूटकर व्यापारी व जरूरतमंद लोगों की मदद के लिए सामने आए है। उनका यह अपनापन ऐसे परिवारों के भी सदैव यादगार पल बन जाते है।

ब्राम्हण समाज के अध्यक्ष चन्द्रिका प्रसाद चौबे ने मंत्री अकबर के इस प्रयासों की तारीफ की है। उन्होने कहा कि आज ऐसे मदद के लिए देश के अन्य राजनेताओं को करनी चाहिए। दीवापली त्यौहार से ठीक पहले अपनों को याद कर उन्हे आर्थिक रूप से मदद देने का यह प्रयास बहुत ही सराहनीय है।

कोविड संक्रमण के दौर में भी कैबिनेट मंत्री अकबर ने जरूरतमंद लोगों को पहुंचाया सीधी मदद

कैबिनेट मंत्री मोहम्मद अकबर ने कोविड संक्रमण के दौर से कबीरधाम जिले के हजारों जरूरत मंद परिवारों को सीधे तौर पर आर्थिक मदद पहुंचा कर उनका आत्म विश्वास बढ़ाया है। उन्होने कोविड संक्रमण काल में कबीरधाम जिले के कवर्धा, बोडला, सहसपुर लोहारा जनपद पंचायत पिपरिया नगर पंचायत में पहुंच कर हजारों परिवारों को लगभग 70 लाख रूपए से अधिक की आर्थिक सहायोग सहयोग भी दे चुके है।