गुजरात मॉडल फेल देश कांग्रेस के छत्तीसगढ़ मॉडल की तारीफ कर रहा : कांग्रेस
गुजरात मॉडल फेल देश कांग्रेस के छत्तीसगढ़ मॉडल की तारीफ कर रहा : कांग्रेस

यूपी से लेकर हिमांचल तक छत्तीसगढ़ मॉडल की गूंज

रायपुर (वीएनएस)। कांग्रेस ने कहा कि भाजपा के गुजरात मॉडल की हवा निकल चुकी है। अब देश के सामने छत्तीसगढ़ का विश्वसनीय मॉडल उभरकर सामने आया है। प्रदेश कांग्रेस संचार विभाग के अध्यक्ष सुशील आनंद शुक्ला ने कहा कि 2014 के पहले नरेन्द्र मोदी जब अपने आपको प्रधानमंत्री पद का दावेदार प्रचारित कर रहे थे तब उन्होंने प्रायोजित तरीके से गुजरात मॉडल के तथाकथित विकास को देश के सामने प्रचारित किया था। लेकिन आज देश और दुनिया के सामने मोदी और भाजपा के गुजरात मॉडल असफल हो गया है। किसानों और मजूदरों तथा आम आदमी की सशक्तिकरण के किये जा रहे हैं कार्यों के कारण पिछले तीन सालों में देश के सामने कांग्रेस का छत्तीसगढ़ मॉडल सामने आ रहा। उत्तरप्रदेश से लेकर हिमांचल के चुनावों तक कांग्रेस के छत्तीसगढ़ मॉडल की गूंज सुनाई दने शुरू हो गयी है। देश के अन्य राज्य की जनता भी अपने यहां छत्तीसगढ़ मॉडल की तर्ज पर विकास चाह रही है।

प्रदेश कांग्रेस संचार विभाग के अध्यक्ष सुशील आनंद शुक्ला ने कहा कि आज जब सालभर से समर्थन मूल्य के लिये देश भर के किसान आंदोलित है तब छत्तीसगढ़ देश का अकेला ऐसा राज्य है जो अपने राज्य के किसानों को उनकी ऊपज को न सिर्फ समर्थन मूल्य पर खरीद रहा है। किसानों को 9000 रू. प्रति एकड़ के हिसाब से अतिरिक्त सहायता भी दे रहा है। जब देश में लॉकडाउन के समय मजदूर रोजी-रोटी के लिये परेशान थे सारी फैक्ट्रियां बंद थी तब छत्तीसगढ़ ने एक दिन में 20 लाख से अधिक मजदूरों को काम देकर नया रिकार्ड बनाया था। देश और दुनिया ने कल्पना भी नहीं किया होगा कि गोबर से भी विकास के नए सोपान गढ़े जा सकते हैं। छत्तीसगढ़ ने ‘‘गोधन न्याय योजना’’ से गोबर को भी रोजगार का नया साधन बना दिया। जिसमें मवेशी चराने वाले, गोपालक और स्व-सहायता समूहों को तो फायदा हो ही रहा। राज्य जैविक खेती की ओर भी बढ़ रहा है। जब देश में किसानों की जमीनें उद्योगों के लिये अधिग्रहित किये जाने का दौर चल रहा है, ऐसे में छत्तीसगढ़ सरकार ने उद्योग के लिये मुआवजा देकर अधिग्रहित जमीन को आदिवासी किसानों को इसलिये वापस कर दिया कि वहां पर वह समूह उद्योग नहीं लगा रहा जिनके लिये जमीन का अधिग्रहण किया गया था। किसानों को दिया मुआवजा भी वापस नहीं किया गया। देशभर में खरीदे जाने वाले लघु वनोपज के 70 प्रतिशत से अधिक वनोपज को अकेले छत्तीसगढ़ ने खरीद कर वनवासी क्षेत्र के लोगों के रोजगार के पारंपरिक साधन को मजबूत किया है। प्रदेश कांग्रेस संचार विभाग के अध्यक्ष सुशील आनंद शुक्ला ने कहा कि कांग्रेस का छत्तीसगढ़ मॉडल देश के सामने इसलिये भी लोकप्रिय और विश्वसनीय साबित हो रहा है क्योंकि छत्तीसगढ़ में विकास की अवधारणा सिर्फ बड़ी-बड़ी अट्टालिकायें खड़ी करना या कांक्रीट के जंगल बसाना नहीं है। कांग्रेस के विकास की अवधारणा में आम आदमी का सशक्तिकरण करना है जिसमें समाज का हर तबका आर्थिक रूप से सुदृढ़ और आत्मनिर्भर हो सके।